कुंवारी लड़की कि चुदाई कहानी

कुंवारी लड़की की चुदाई Sex story, चुदाई कहानी, Kuwari ladki ki seal todkar chudai, हिंदी सेक्स कहानी, Chudai Kahani, 15 साल की सेक्सी कुंवारी लड़की की चुदाई hindi story, कुंवारी लड़की को चोदा sex story, कुंवारी लड़की की प्यास बुझाई xxx kamuk kahani, कुंवारी लड़की ने मुझसे चुदवाया, Kuwari ladki ki chudai story, कुंवारी लड़की के साथ चुदाई की कहानी, Kuwari ladki ko choda xxx hindi story, कुंवारी लड़की के साथ सेक्स की कहानी, Kuwari ladki ki chut mari, कुंवारी लड़की ने मेरा लंड चूसा, कुंवारी लड़की की चूत चाटी, कुंवारी लड़की को नंगा करके चोदा, कुंवारी लड़की की चूचियों को चूसा, कुंवारी लड़की की चूत चाटी, कुंवारी लड़की को घोड़ी बना के चोदा, 8" का लंड से कुंवारी लड़की की चूत फाड़ी, कुंवारी लड़की की गांड मारी, खड़े खड़े कुंवारी लड़की को चोदा, कुंवारी लड़की की चूत को ठोका,

अपने घर के नीचे के हिस्से को किराये पर दिया हुआ है। वहाँ पर तीन परिवार रहते हैं।हमारे नीचे वाले बाथरूम के ऊपर तक दरवाजा नहीं है इसी लिए मैं उसके गोरे गोरे मलाई जैसे चूचों के दर्शन कई बार कर चुका हूँ। लेकिन उसकी मेरे साथ सेट्टिंग नहीं हो सकती थी।अब बात तीसरे परिवार की, उसमें पांच लोग हैं आदमी-औरत उनके दो 10-12 साल के दो लड़के और एक 17 साल की लड़की जिसका नाम प्रीति है। प्रीति का रंग सांवला है लेकिन फिगर का क्या कहना, चूचे एकदम तने हुए। यह तो थी जान-पहचान ! अब आता हूँ कहानी या यों कहो की आपबीती पर। प्रीति बारहवीं क्लास में पढ़ती है। वो रोज शाम को कपड़े सुखाने छत पर आती है। सेक्स कहानी एक दिन मेरी मम्मी ने कहा- प्रीति आई थी, वो बोल रही थी कि उसने कंप्यूटर सीखना है।
कुंवारी लड़की कि चुदाई कहानी
17 साल की कुंवारी लड़की कि चुदाई कहानी


मैं मन ही मन खुश होने लगा। वो शाम को 7.00 बजे कंप्यूटर सीखने के लिए आई। मैं उसे कंप्यूटर सिखाने लगा वो मेरी दांई और बैठी थी इसलिए कभी कभी जानबूझ कर मैं माउस चलते समय उसके वक्ष से अपनी कोहनी लगा देता।उसने कंप्यूटर पर लिख दिया- मनीष आई लव यू। सेक्स कहानी मैंने उससे पूछा तो उसने बताया कि मनीष उसकी क्लास में पढ़ता है।  मैंने उससे बोला- मैं इसके बारे में तेरी मम्मी को बताऊँगा।  वो मुझसे कहने लगी- आपको इससे क्या मिलेगा? लेकिन मैं फंस जाऊँगी, मैंने तो गलती से लिख दिया, मैं अब मनीष से प्यार नहीं करती।  फिर उसकी मम्मी ने बुला लिया और वो चली गई।अगले दिन उसने ऊपर छत पर जाते समय मेरे कमरे में एक पर्चा फेंक दिया। उसमें लिखा था कि मैं उसकी मम्मी से शिकायत न करूँ, और वो रात को कंप्यूटर सीखने आएगी।  ये चुदाई हिंदी सेक्स की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं शाम को उसका इंतजार करने लगा, वो 7.00 बजे आ गई। सेक्स कहानी वो मुझसे पूछने लगी कि क्या मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है।  तो मैंने उसे न में जवाब दिया। उसने मुझे हमारी गली की लड़कियों के चक्करों के बारे में बताया।  उसने बोला- न तो आप किसी से प्यार करते हैं और न ही मैं। मुझे लगा कि उसका इशारा मेरी ओर था। तो मैंने उसे आई लव यू बोल दिया। उसने शरमाते हुए हाँ कर दी। और इस तरह से हमरी प्रेम कहानी शुरू हो गई।  जब भी वो छत पर जाने लगती वो मुझसे मिलने आ जाती। कुछ दिनों के बाद मैंने उसके गाल पर चुम्बन कर लिया। मेरी बहन एक साल से होस्टल में रहती थी और मम्मी पापा का भी विचार बन गया पुणे रहते रिश्तेदारों से मिलने का। मेरे कॉलेज शुरु होने वाले थे इस लिए मैंने जाना रद्द दिया। वो दो हफ्ते के लिए जा रहे थे।  प्रीति और उसका परिवार रोज़ रात को सोने के लिए छत पर आते थे। मैंने प्रीति को बोल दिया रात को नीचे मुझसे मिलने के लिए आये।वो रात के करीब सवा एक बजे मुझसे मिलने आ गई। मैंने उसे अन्दर बुलकर दरवाजा बंद कर लिया।मैं उसके गाल पर चुम्बन करने लगा,

फिर उसके होंठ चूसने लगा।उसने अपनी ऑंखें बंद कर ली, मैंने उसके वक्ष पर हाथ फिराया। तो उसने मुझे ऐसा करने से रोका।लेकिन मैं उसे समझाते हुए उसके चूचे दबाने लगा और वो गर्म होने लगी, मुझे जोर जोर के पकड़ने लगी।मैंने उसका कमीज उतार दिया। वो शरमा रही थी और अपने हाथों से अपने आप को छुपा रही थी।मैंने उसके हाथ फ़ैलाए और उसे अपनी बाहों में समां लिया। मैंने उसकी पजामी ब्रा और चड्डी उतार दी। और खुद तो मैं निक्कर में था मैंने उसे इसको उतारने के लिए कहा तो पहले तो उसने मना किया लेकिन मेरे कहने पर उसने उतार दी। सेक्स कहानी  फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिटाकर चूमना चालू कर दिया। वो मदहोश हो रही थी, मेरे चूमते हुए उसने मुझे जोर से जकड़ लिया और उसकी चूत से पानी बहने लगा। ये चुदाई हिंदी सेक्स की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं उसका पूरा शरीर चूमने लगा, वो कहने लगी- प्लीज़ ! मेरी प्यास बुझा दो।उसने मुझे बताया कि वो पहले किसी लड़के के इतना करीब नहीं आई और इस पर मुझे विश्वास तब आया जब मैंने अपना 7 इंच का लंड उसकी कसी हुई चूत में डाला और उसकी चीखें निकल गई।मैंने अपनी रफ़्तार कम की और उसके होठों को चूसने लगा इससे वो थोड़ी शांत हुई। उसके बाद मैंने अपनी गति बढ़ा दी उसे भी मजा आने लगा और वो भी चूतड़ उठा कर मेरा लंड अपनी चूत की गहराई तक ले जाने लगी। जब उसकी चूत की दीवारे मेरे लंड को दबा रही थी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।अगले 15 मिनट में वो दो बार अपना कामरस छोड़ चुकी थी। अब मेरी बारी थी, मैंने उसे कहा- मैं झड़ने वाला हूँ। तो उसने बोला कि वो प्रेग्नेंट नहीं होना चाहती।तो मैंने अपना लंड निकाल कर उसके मुंह पर अपना पानी छोड़ दिया। उसके बाद मैंने 2 बार उसकी चूत और गांड भी मारी। यह मेरी जिंदगी का पहला सेक्स अनुभव था। अब हमें जब भी मौका मिलता है हम सेक्स जरूर करते हैं।कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर कोई मेरी बहन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना लंड की प्यासी बहन

1 comments:

Chudai kahani in facebook

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter